होली के रंग में ना पड़ जाए भंग, इन खास बातों का रखें ध्यान

0
58

होली हिंदू धर्म का एक ऐसा त्योहार जो रंगों से सराबोर रहता है। जिसमें रंगों के साथ-साथ मिठास यानि गुझियों का भी काफी महत्व है। जैसे हमारी जिदंगी रंगों और मिठास से भरी होनी चाहिए उसी का संदेश होली का त्योहार देता है। लेकिन इस खुशी और उल्लास के बीच आपके रंगों का रंग कहीं फीका ना पड़ जाए इस बात का भी खास ख्याल रखना चाहिए। यानि होली की मस्ती के साथ-साथ अपनी सेहत का ध्यान रखना जरूरी है।

होली पर सबसे ज्यादा महत्व रंगों का होता है लेकिन आजकल जो रंगों का इस्तेमाल किया जाता है उसमें काफी केमिकल होते हैं, जोकि आपकी सेहत के लिए सही नहीं हैं। इन रंगों के यूज से आंखों की एलर्जी, त्वचा में खुजली यहां तक कि आंखों में रंग चले जाने पर अंधापन तक भी बात पहुंच सकती है। इसलिए रंगों की जगह पर आप हिना, हल्दी पाउडर, चंदन, फूलों की पंखुड़ियों के चूरे से होली का पूरा मजा बिना किसी साइड इफेक्ट के ले सकते हैं।

जिन लोगों को रंगों से एलर्जी है उन्हे तो रंगों से दूर ही रहना चाहिए। होली खेलने से पहले बालों के कवर कर लें क्योंकि सिंथेटिक रंग बालों के लिए बेहद नुकसानदेह है। अब बात अगर होली में खाने- पीने की करें तो सबके घरों में खानों की वैरायटी की कमी नहीं होती। हर एक घर में अपनी-अपनी पसंद के हिसाब से तरह-तरह के पकवान बनाएं जाते हैं। जिसमें मीठी चीजें अधिक शामिल होती हैं। इसलिए त्योहार की खुशी में ज्यादा मीठा और तला-भुना खाने बचे। कहीं ऐसा ना हो ज्यादा खाना आपके लिए परेशानी का सबब बन जाए।

अब आप होली खुशी से अपने परिवार, रिश्तेदारों, दोस्तों के साथ जी भर के इन्जॉय करें। बस कुछ बातों का ध्यान रखें और होली के मजे लें, खुशियां बांटे और खुश रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here